PAN Card क्या है, क्यों जरूरी है और कैसे बनाये?

Janiye PAN Card kya hai, isme jo 10 digit alphanumeric number hai iska matlab ky ahi, ye kyu jaruri hai, aur iske liye kaise apply kare.
आज हम PAN Card क्या है और इससे जुड़े कुछ जानकारी के ऊपर बात करेंगे. दुनिया में जितने भी देश हैं उन सभी देशों में रह रहे लोगों के पास पहचान पत्र होना बहुत जरुरी है क्यूंकि उस पहचान पत्र के द्वारा ही एक व्यक्ति कौन से देश का वाशी है ये पता लगाया जा सकता है.हर देश के लोगों के पास अलग अलग पहचान पत्र मौजूद रहता है और ये हमारे रोजमर्रा की ज़िन्दगी में भी बहुत काम आता है. हमारे देश में बहुत सारे ऐसे Card हैं जिसके जरिये यहाँ के लोगों की पहचान होती है जैसे Aadhar Card, Voter Card, Driving license इत्यादि. इन सबके अलावा एक और चीज है जो हमें पहचान दिलाने के साथ साथ bank से जुड़े कामो के लिए बहुत जरुरी होता है और वो है PAN Card. PAN Card क्या है और इससे जुडी सभी महत्वपूर्ण बातों की जानकारी मै इस लेख के जरिये आप को बताऊँगा.

PAN Card क्या है – What is a PAN Card?

PAN Card का पूरा नाम Permanent Account Number होता है. ये एक unique पहचान पत्र है और इसे किसी भी तरह का financial transaction में बहुत जरुरी माना जाता है. PAN Card में 10 digit का alphanumeric number मौजूद रहता है जो income tax department से मिलता है. PAN Card Income Tax Act,1961 के तहत भारत में laminated Card के रूप में बनता है जिसे income tax department Central Board for Direct Taxes(CBDT) की देख रेख में जारी करता है. PAN Card अपने आमदनी से income tax का भुगतान देने के लिए बहुत जरुरी होता है.
PAN Card में जो नंबर मौजूद रहते हैं वो सभी प्रकार के प्रमुख financial transaction के लिए जरुरी होता है जैसे bank में खाता खोलने के लिए, taxable salary पाने के लिए, धन संपत्ति और गहने खरीदने अथवा बेचने के लिए इत्यादि इन सभी चीजो में PAN Card की जरुरत पड़ती है इसलिए इस Card में account holder की सभी details मौजूद रहती है. PAN Card आपके debit और credit Card के size का होता है और आपके details जैसे की आपका नाम, पिता का नाम, जन्म की तारीख, आपका signature और आपका permanent account number और photo के साथ Card पे छपे हुए रहते हैं.

PAN Card में मौजूद 10 Digit का Alphanumeric Number का क्या मतलब होता है?

मैंने पहले ही बता दिया है की PAN Card में 10 digit का alphanumeric नंबर होता है जिसमे आपकी कई सारी जानकारी छिपी होती है जैसे AAECC6548C. पहले के पाँच अक्षर english के alphabets होते हैं, अगला 4 digit का नंबर होता है और आखिर में फिर से एक alphabet होता है. ये सभी अंक के कुछ मतलब होते हैं और ये व्यक्ति के मत्वपूर्ण details को व्यक्त करते हैं. चलिए इन सभी अंको के क्या मतलब होते हैं इसके बारे में जान लेते हैं

1. पहला तिन अक्षर. पहले के तीन अक्षर एक normal alphabetic series के होते हैं जो A से लेकर Z तक alphabet का इस्तेमाल हुआ रहता है जैसे AZT या फिर ZRT जैसे कोई भी तिन अक्षर को मिलाकर रहता है.
2. चौथा अक्षर. चौथा अक्षर Card के धारक के स्तिथि के बारे में वर्णन करता है. ये इस Card का सबसे महत्वपूर्ण अक्षर होता है जो एक व्यक्ति के स्तिथि की पहचान बताता है. ये चौथा अक्षर अधिकांस PAN धारकों के नंबर पर अक्षर “P” रहता है जिसका मतलब “person” होता है. दुसरे 9 अक्षर जो चौथे character का वर्णन करते हैं वो इस प्रकार हैं

A – Association of Persons
B – Body of Individuals
C – Company
F – Firm
G – Government
H – Hindu Undivided Family
L – Local Authority
J – Artificial Juridical Person
T – Trust

3. पांचवा अक्षर. अगर PAN Card personal है तो पांचवा अक्षर person का last नाम या surname का पहला letter होता है जैसे Pratik Jain नाम है तो PAN Card के नंबर पर पांचवा अक्षर “J” होगा. और अगर PAN Card किसी trust, organization, company, government इत्यादि के लिए है तो उसके नाम के पहला letter पांचवा अक्षर में होता है.

4. छः से लेकर नौ अक्षर. ये चार अक्षर 0001 से लेकर 9999 तक चार random numbers होते हैं.

5. दसवाँ अक्षर. PAN Card का आखरी अक्षर वर्णमाला के जांच अंक होता है जो बाकि के 9 characters को लेकर एक फार्मूला के द्वारा उत्पन किया जाता है.

PAN Card क्यों जरुरी है?

1. PAN Card में photo, नाम और signature होता है इसलिए इसे पहचान पत्र के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है.
2. इसका प्रमुख उपयोग tax भरने के लिए होता है. बिना PAN Card के आपको tax में ज्यादा भुगतान भरना पड़ सकता है. PAN Card के unique number की मदद से income tax department एक व्यक्ति के द्वारा किये गए सभी transactions को link करता है और उनपर नजर रखता है ताकि tax की चोरी को रोका जा सकता है.
3. ये सिर्फ tax भरने के लिए ही नहीं बल्कि किसी भी ज्यादा मूल्य की transactions के लिए ज़रूरी होता है. job करने वाले व्यक्ति को PAN Card की सबसे ज्यादा जरुरत होती है जिससे उन्हें भुगतान भरने में आसानी होती है.
4. आज कल सभी बैंकों में भी खाता खोलने के लिए PAN Card की आवश्यकता होती है.
5. PAN Card आयकर में हर प्रकार की गड़बड़ियों या दिक्कतों से बचाता है.
6. घर बनाने के लिए property खरीदते वक़्त या बेचते वक़्त भी PAN Card की जरुरत होती है. गाड़ियाँ खरीदते समय में भी इसकी जरुरत होती है.
7. अगर आप NRI हैं तो आप PAN Card की मदद से आसानी से property खरीद सकते हैं और इस देश में अपना business भी शुरू कर सकते हैं.

PAN Card कैसे बनाये?

पहले PAN Card के लिए सिर्फ सरकारी कर्मचारी ही apply कर सकते थे लेकिन अब ऐसा बिलकुल भी नहीं है, कोई भी व्यक्ति, comPANy, organization इत्यादि PAN के लिए apply कर सकते है. NRI व्यक्ति यानि की जो इस देश का नागरिक नहीं है वो भी PAN Card के लिए apply कर सकते हैं. इसके लिए apply करना बहुत ही सरल है इसे app दो तरीके से बनवा सकते हैं पहले या तो आप खुद ही income tax department के website incometaxindia.gov.in या tin-nsdl.com या utiitsl.com में जाकर PAN Card बनाने के लिए form भर सकते हैं. और दूसरा आप चाहे तो आपके सहर में मौजूद सेवा केंद्र पर जा सकते हैं जहाँ PAN Card बनवाए जाते हैं.
PayPal क्या है?
Bitcoin क्या है?
PAN Card बनवाने के लिए 107 रुपये का शुल्क लगता है या फिर इससे अधिक भी लग सकता है कई जगहों पर 150.200 तक पैसे लिए जाते हैं. अगर आप online PAN Card के लिए apply कर रहे हैं तो आपको Net banking की जरुरत पड़ेगी या फिर आप credit Card या debit Card से भी payment कर सकते हैं. और अगर आप बाहार किसी केंद्र से PAN Card बनवा रहे हैं तो आप पैसे नगद में दे सकते हैं. PAN Card के लिए आवेदन करने के बाद आपको एक नम्बर दिया जाता है जिससे आप पता कर सकते हैं की आपका PAN Card बनने के प्रक्रिया का status क्या है और वो आपके पास कितने दिनों में पहुँच जायेगा.

PAN Card बनवाने के लिए कौन कौन से दस्तावेज की जरुरत होती है?

1. दो Recent passport size photo
2. जन्म का प्रमाण. इसके लिए आप अपना birth certificate, marriage certificate, metric certificate, passport, driving license में से कोई भी एक दस्तावेज की photo copy का इस्तेमाल कर सकते हैं.
3. Identity proof. इसके लिए आप Voter Card/ passport/ driving license/ pension Card/ Aadhar Card/ ration Card इत्यादि में से एक दस्तावेज का इस्तेमाल कर सकते हैं.
4. Address proof. इसके लिए आपको electricity bill/ driving license/ passport/ aadhar Card/ telephone bill इत्यादि में से एक दस्तेवेज की जरुरत पड़ती है.
ध्यान रहे की सारे जरुरी दस्तावेज A4 size page में होने चाहिये और उन सभी को photo के साथ साथ self attested करना बहुत जरुरी है, self attested मतलब खुद का signature.
हमारा भारत सरकार जल्द ही PAN Card को भी Aadhar Card की तरह सभी सरकारी कामों में आनिवार्य कर देंगे इसलिए आपके पास ये Card का होना बहुत ही जरुरी है. अगर आपके पास ये नहीं है तो जल्दी बनवा लीजिये. आपको हमारा ये लेख PAN Card क्या है? कैसा लगा हमारे साथ अपनी राय जरुर बताइए.

Free Exclusive Traffic Tips

About the Author: Dharmendra Yadav

Hy I Am Dharmendra Yadav.. I Am a Web Enthusiast, System Specialist, Web Devloper, Graphic Designer, Professional Blogger, Certified Search Engine Optimizer & Cyber Expert,,,, From India....

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *