SSL (Secure Sockets Layer) क्या है? और जानिए कैसे SSL Certificate इनस्टॉल करें

आज हम जानेंगे के, SSL Kya hai (क्या है)? कैसे काम करता है और हम इसे कहाँ से ख़रीदे? लाखों करोड़ो लोग हर दिन Internet का इस्तेमाल करते हैं. हर दिन कुछ न कुछ जानकारियां हासिल करते हैं, e-commerce site से सामान खरीदते हैं, online payment करते हैं, बहुत सारे site में अपना personal details देकर अपना account बनाते हैं और अलग अलग websites में sign in करते हैं. कभी हमने ये सोचा है, की हम जो अपना सारा details देते हैं चाहे वो अपना नाम हो, मोबाइल number हो, email address हो या फिर payment करते वक़्त हमारे card का details हो ये सभी जो हम details देते हैं internet पर, क्या ये सब दुसरे लोगों से जो hackers होते हैं या फिर जो इन सब चीजों का गलत इस्तेमाल भी कर सकते हैं, क्या उन सभी से सुरक्षित है? बहुत कम लोग ही ऐसा सोचते हैं.
हमारा सभी data या personal detail जो हम share करते हैं किसी भी site के साथ तो हमें एक सुरक्षित जोड़ ( secure connection) की बेहद जरुरत होती है जो हमारे details को third party से सुरक्षित रखेगा. अगर हमारा information सुरक्षित नहीं रहेगा तो वो चोरी हो सकता है. इसी परेशानी से बचने के लिए आज कल सारे website एक protocol का इस्तमाल कर रहे हैं जिसका नाम है SSL protocol. पर ये SSL kya hai (क्या है)? यही आज मै आपको इस लेख के जरिये बताउंगी की SSL kya hai और ये काम कैसे करता है?

SSL Kya Hai (क्या है) – What is SSL in Hindi

SSL का fullform है Secure Sockets Layer, SSL एक encryption protocol है जो Internet में इस्तेमाल किया जाता है. ये protocol internet browser और websites के बिच एक सुरक्षित संपर्क प्रदान करता है जो Internet users को अनुमति देता है की वो अपने private data को दुसरे website के साथ अदला बदली सुरक्षित रूप से कर सके. आज के वक़्त में लगभग सारे ही website SSL का इस्तेमाल कर रहे हैं. SSL protocol करोड़ो online business करने वाले लोग इसलिए इस्तेमाल कर रहे हैं ताकि वो अपने customers और उनके द्वारा किया जा रहा online transactions को प्रोटेक्ट कर सके और इसके इस्तेमाल से hacker के लिए नामुमकिन होगा की वो उस संपर्क के बिच से customer का data चुरा सके.

जो website SSL का इस्तेमाल करते हैं उनका domain नाम जो होता है (जैसे www.google.com) उसके साथ एक बंद ताले का चित्र जुड़ा हुआ होता है जो की हमारे Internet browser के url में दीखता है और http के जगह https लिखा रहता है domain नाम के साथ, इससे पता चलता है की वो website पूरी तरह से सुरक्षित है. अगर कोई user उस ताले वाले चित्र के ऊपर click करे जो की address bar में दिखाई देता है तो वहाँ से जिस website को user देख रहा है उस website का SSL certification, identification और बाकि सारी information user को दिखा देता है. हर website का unique SSL certificate होता है.
With SSL: https://yoursite.com
Without SSL: http://yoursite.com
SSL को TLS (Transport Layer Security) protocol भी कहा जाता है. इसका इस्तेमाल सिर्फ website में ही नहीं बल्कि e-mail में और बाकि सभी जगह में इस्तेमाल किया जा सकता है. अगर कोई व्यक्ति e-commerce site चला रहा है तो उसे SSL का इस्तेमाल करना बहुत जरुरी है क्यूंकि इस site में customer से payment करने के लिए उनका सारा इनफार्मेशन लिया जाता है.

SSL Kaise Kaam Karta Hai ( कैसे काम करता है)?

आपने जान लिया होगा के SSL kya hai (क्या है)? तो चलिए जानते है के ये काम कैसे करता है? SSL certificate दो तरह का key का इस्तेमाल करता है; एक है Public key और दूसरा है Private key. ये दोनों key एक साथ मिल कर सुरक्षित संपर्क बनाते हैं जिसके जरिये data सुरक्षित तरीके से share होता है.
जब हमें किसी विषय के बारे में कुछ जानना होता है या कुछ खरीदना होता है तो हम अपने web browser में किसी website का नाम लिखते हैं. उसके बाद web browser उस website के server के साथ जुड़ता है जो की SSL protocol का इस्तेमाल कर रहा होता है. User अपने browser से उस website के server को request करता है की वो अपनी पहचान दे. request देने के बाद web server अपने SSL certificate का कॉपी के साथ एक public key browser में भेज देता है. उसके बाद user उस certificate को check करता है जिससे की user ये तय कर सके की वो उस website के साथ अपने प्राइवेट data को share करने के लिए उस पर भरोसा कर सकता है या नहीं. check कर लेने के बाद जब user उस पर भरोसा करने का फैसला कर लेता है तो फिर से वो उसके server को एक encrypt message भेजता है.
Web server उस encrypt message को decrypt करता है उसके बाद वो browser को acknowledgement भेजता है की user के साथ SSL encryption शुरू किया जाये, उसके बाद user का प्राइवेट data browser और web server के बिच अदला बदली सुरक्षित ढंग से होता है जो पूरी तरह से confidential रहता है.

SSL Kahan Se Kharide (कहाँ से खरीदें)?

SSL का service बहुत सारे बड़े companies प्रदान करते हैं उनमे से कुछ के नाम हैं- GoDaddy, BigRock, HostGator etc. जब हम अपने website के लिए hosting server खरीदते हैं तो हमे वो hosting कंपनी भी SSL service प्रदान करते हैं जहाँ हम hosting खरीदने के साथ साथ अपने website के लिए SSL certificate भी खरीद सकते हैं जो हमारे website को सुरक्षित रखेगा. दिए गए companies से अगर हम SSL certificate खरीदते हैं तो हमें उसके दिए गए रकम को भरना होगा तभी जाकर हम उसका भरपूर लाभ उठा पाएंगे. लेकिन ऐसे भी बहुत से companies हैं जो SSL का services मुफ्त में प्रदान करते हैं. उनमे से एक का नाम हैं Let’s Encrypt, ये Internet Research Group का एक प्रोजेक्ट है जो मुफ्त में SSL certificate आम लोगों को प्रदान करता है. Let’s Encrypt का sponsor बहुत सारे companies कर हैं जैसे Google,Facebook, Mozilla, Cisco, etc.

Free Exclusive Traffic Tips

About the Author: Dharmendra Yadav

Hy I Am Dharmendra Yadav.. I Am a Web Enthusiast, System Specialist, Web Devloper, Graphic Designer, Professional Blogger, Certified Search Engine Optimizer & Cyber Expert,,,, From India....

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *